आपका स्वागत है

Together, बच्चों को होने वाले कैंसर से पीड़ित किसी भी व्यक्ति - रोगियों और उनके माता-पिता, परिवार के सदस्यों और मित्रों के लिए एक नया सहारा है.

और अधिक जानें

बचपन में होने वाले कैंसर से पीड़ित बच्चे के दर्द निवारण के लिए नशीले पदार्थ: आपको क्या जानना चाहिए

कैंसर के कारण होने वाले कुछ दर्द के उपचार में नशीले पदार्थ की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

कैंसर के उपचार के दौरान और बाद में दर्द होना आम बात है। दर्द को कम करना रोगी की देखभाल का एक हिस्सा है। लेकिन जिन बच्चों को बचपन में होने वाला कैंसर है उनके माता-पिता को अपने बच्चे को नशीले पदार्थ लेने से चिंता हो सकती है। उनके व्यापक उपयोग और दुरुपयोग ने नशीले पर्दार्थो का राष्ट्रव्यापी संकट को जन्म दिया है।

हालांकि, कैंसर और कैंसर के इलाज के कारण होने वाले कुछ दर्द के निवारण में नशीले पदार्थ की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

बचपन में होने वाले कैंसर के रोगियों में नशीले पदार्थ का उपयोग कैसे किया जाता है?

‘नशीला पदार्थ' दर्द निवारक दवाओं का एक वर्ग है जो कानूनी रूप से सिर्फ़ चिकित्सक के लिखे पर्चे के बाद ही मिलता है। इन दवाओं में हाइड्रोकोडोन, ऑक्सीकोडोन, मॉर्फ़िन, फेंटेनल और मेथाडोन शामिल हैं।

‘नशीला पदार्थ', मस्तिष्क और रीढ़ के अंदर की नस के कई क्षेत्रों और दर्द और खुशी की भावनाओं में शामिल शरीर के अंगों में स्थित कोशिकाओं में 'नशीला पदार्थ रिसेप्टर्स' को बांधते और सक्रिय करते हैं। जब नशीले पदार्थ इन रिसेप्टर्स से जुड़ते हैं तब वे शरीर से मस्तिष्क में भेजे गए दर्द संकेतों को अवरुद्ध करते हैं और मस्तिष्क में डोपामाइन को छोड़ते हैं। दर्द संकेतों को अवरुद्ध करना दर्द से राहत दे सकता है और डोपामाइन से लोगों को "अच्छा महसूस" होता है और उन्हें "नशा" सा हो सकता है। उपयोगकर्ता इस अनुभव को दोहराना चाह सकता है। इस इच्छा की वजह से लोग गैर-चिकित्सा कारणों से नशीले पदार्थ लेने के लिए प्रेरित हो सकते हैं।

पर्चे से मिले नशीले पदार्थ का उपयोग तीव्र या क्रॉनिक (पुराना) मध्यम से गंभीर दर्द को कम करने के लिए किया जाता है। वे आंत के दर्द के लिए निर्धारित हो सकते हैं। इस तरह का दर्द सर्जिकल प्रक्रिया या ट्यूमर का किसी अंग को दबाव जैसी शारीरिक उत्तेजना की प्रतिक्रिया के कारण होता है। जीवन के अंत तक की देखभाल के दौरान दर्द को नियंत्रित करने के लिए नशीले पदार्थ का उपयोग किया जा सकता है।

दर्द और दर्द प्रबंधन के प्रकारों के बारे में और पढ़ें

कैंसर से संबंधित दर्द के उपचार में सिर्फ़ नशीले पदार्थ ही ऐसे विकल्प नहीं हैं जिनका उपयोग किया जा सकता है। बहु-विषयक देखभाल के सुझाव पर भी ज़ोर दिया जाता है। इसमें अन्य दवाइयां और अन्य प्रकार की चिकित्सा शामिल हो सकती हैं जिनमें दवाई का उपयोग नहीं किया जाता है।

क्या मेरा बच्चा नशीले पदार्थों का आदी हो जाएगा?

नशीले पदार्थों की अत्यधिक लत लग सकती है। हालांकि, नशे की लत को रोकने में मदद के लिए देखभाल टीम सावधानी बरतेंगी। जैसे कि, देखभाल टीम रोगी के नशे से संसर्ग को कम करने के लिए कम अवधि के लिए नशीले पदार्थों के उपयोग का सुझाव दे सकती है।

देखभाल टीम नशे के जोखिम कारकों का भी आकलन कर सकती है और यह तय कर सकती है कि रोगी कम जोखिम वाला, मध्यम-जोखिम वाला या उच्च जोखिम वाला है। देखभाल टीम इस जानकारी का उपयोग दर्द इलाज योजना बनाने में कर सकती है।

नशीले पदार्थों के दुरुपयोग और लत लगने के जोखिम कारक

  • किशोर और युवा वयस्क — दुरुपयोग का जोखिम आम तौर पर किशोर उम्र के दौरान बढ़ता है और युवा वयस्कों में सबसे ज़्यादा होता है।
  • नशीले पदार्थों का उपयोग — लंबे समय तक नशीले पदार्थों का उपयोग और / या कई प्रकार के नशीले पदार्थ लेने से जोखिम बढ़ सकता है।
  • मादक पदार्थों के सेवन का व्यक्तिगत, दोस्तों का या पारिवारिक इतिहास
  • व्व्यावहारिक और शैक्षणिक समस्याएं
  • बचपन में हुआ यौन शोषण
  • उदासी की बीमारी / निराशा की बीमारी और घबराहट या चिंता

अगर चिकित्सक ने नशीले पदार्थों के उपयोग के लिए कहा है तो कई बाल चिकित्सा केंद्रों में नशीले पदार्थों का उपयोग शुरू करने से पहले रोगी और माता-पिता को पदार्थ के उपयोग का अनुबंध या समझौते पर हस्ताक्षर करने की आवश्यकता होती है। इस दस्तावेज़ में रोगी और परिवार की भूमिकाओं और ज़िम्मेदारियों के बारे में बताया गया होता है, और उन शर्तों को बताया गया होता है जिसके तहत नशीले पदार्थों से किए जा रहे इलाज को समाप्त किया जा सकता है और देखभाल प्रदाता की ज़िम्मेदारियों के बारे में भी जानकारी दी गई होती है।

अनुबंध देखभाल प्रदाताओं और रोगी परिवारों को नशीले पदार्थों से किए जा रहे इलाज के बारे में बातचीत करने और प्रश्नों और चिंताओं को हल करने में मदद कर सकते हैं।

नशीले पदार्थों के उपयोग की निगरानी के लिए जांच

यह सुनिश्चित करने के लिए कि नशीले पदार्थों का उपयोग सही से किया जा रहा है रोगियों की निगरानी करने के लिए देखभाल करने वाली टीम अलग-अलग तरीकों का उपयोग कर सकती है।

  • देखभाल टीम दवा की गोली की गिनती भी कर सकती है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि रोगी निर्धारित गोलियों से अधिक गोलियां तो नहीं ले रहे हैं या रोगी की आपूर्ति से गोलियां चोरी तो नहीं हो रही हैं , टीम का सदस्य समय-समय पर दवा की गोलियों की गिनती कर सकता है।
  • रोगियों के पेशाब की जाँच भी हो सकती है ताकि देखभाल टीम दवाओं और अन्य पदार्थों की निगरानी कर सके।
  • देखभाल टीम रोगियों और परिवारों को यह बताने के लिए एक दर्द की डायरी रखने के लिए कह सकती है कि रोगी प्रत्येक दिन कितनी दवा की गोलियां लेता है और किस समय लेता है।

नशीले पदार्थों के दुरुपयोग के संकेत

नशीले पदार्थों के दुरुपयोग के संकेतों के लिए देखभाल टीम रोगियों को करीब से देखेगी। माता-पिता को देखभाल टीम से बात करनी चाहिए अगर ये संकेत दिखते हैं:

  • नशीले पदार्थों के उपयोग के कारण सामान्य रूप से कार्य करने की क्षमता में कमी
  • बिना लक्षणों के दर्द में उपयोग की जाने वाली दवाओं का उपयोग
  • रोगी के नशीले पदार्थों के उपयोग के बारे में तीसरा व्यक्ति चिंता व्यक्त करता है
  • दवाओं की जमाखोरी
  • अवैध दवा का उपयोग
  • पर्ची वाली दवाओं को चुराना या बेचना
  • पर्ची की जालसाजी या अन्य छेड़छाड़
  • गैर-चिकित्सा साधनो से नशीले पदार्थ हासिल करना
  • दवा की गोली की गिनती सही न आना
  • दर्द देखभाल प्रदाता के साथ रोगी मुलाकात नहीं करता
  • रोगी कई चिकित्सकों से दर्द का उपचार मांग रहा है
  • बिना मुलाकात के बार-बार दवा फिर से लेने का प्रयास
  • खोई / चुराई हुई दवा
  • मार्का या सड़क के नाम से दवा का अनुरोध करना
  • दर्द के उपचार की योजना में परिवर्तन का विरोध करना
  • अनधिकृत परिवर्तन या पदार्थों का संयोजन
  • दर्द से राहत के लिए अन्य पदार्थों का उपयोग
  • "नशा" करने के लिए दवा लेना

अगर दुरुपयोग होता है तो देखभाल टीम रोगी के परिवार के साथ समाधान पाने की कोशिश कर सकती है।

अगर आपको नशीले पदार्थों के बारे में चिंता है, तो देखभाल टीम के सदस्यों के साथ खुलकर बात करें।


समीक्षा की गई: जनवरी 2019