आपका स्वागत है

Together, बच्चों को होने वाले कैंसर से पीड़ित किसी भी व्यक्ति - रोगियों और उनके माता-पिता, परिवार के सदस्यों और मित्रों के लिए एक नया सहारा है.

और अधिक जानें

कैंसर से ठीक हुए लोगों की देखभाल की योजना

कैंसर से ठीक हुए लोगों की देखभाल की योजना क्या है?

बचपन में होने वाले कैंसर के इलाज के बाद ठीक हुए बच्चे को अलग तरह के स्वास्थ्य देखभाल की ज़रूरत होती है। कैंसर से ठीक हुए लोगों की देखभाल की योजना, इन लोगों और उनके स्वास्थ्य सेवा प्रदाता शक्ति दे सकती है जिससे वे मिलजुल कर स्वास्थ्य ठीक रख सके।

ये योजना संक्षिप्त है जिसमें रोगी के इलाज का पूरा रिकॉर्ड, विशिष्ट चिकित्सा चिंताएं और प्रस्तावित स्वास्थ्य जांच - सभी उस एक दस्तावेज़ में हैं।

ठीक हुए लोगों की देखभाल की योजना संक्षिप्त है जिसमें रोगी के इलाज का पूरा रिकॉर्ड, विशिष्ट चिकित्सा चिंताएं और प्रस्तावित स्वास्थ्य जांच - सभी उस एक दस्तावेज़ में हैं। इस छवि में, बचपन में होने वाले कैंसर के इलाज के बाद ठीक हुआ बच्चा, फ़ॉलो-अप मुलाकात के लिए एक अस्तपाल के कमरे में इंतज़ार कर रहा है।

ठीक हुए लोगों की देखभाल की योजना संक्षिप्त है जिसमें रोगी के इलाज का पूरा रिकॉर्ड, विशिष्ट चिकित्सा चिंताएं और प्रस्तावित स्वास्थ्य जांच - सभी उस एक दस्तावेज़ में हैं।

क्योंकि बचपन में होने वाला कैंसर बहुत दुर्लभ है और कई प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा प्रदाता अपने पूरे चिकित्सा पेशे में बचपन में होने वाले कैंसर के 1 या 2 मामले ही देख पाते हैं। नतीजन, संभवतः वे बचपन में होने वाले कैंसर के इलाज के बाद देरी से होने वाले दुष्प्रभावों से परिचित नहीं होते हैं। देरी से होने वाले प्रभाव स्वास्थ्य की ऐसी स्थिति हैं जो इलाज समाप्त होने के बाद, महीनों या वर्षों के बाद विकसित होते है। इलाज के आधार पर ठीक हुए बच्चों को अन्य वयस्कों की तुलना में पहले या ज्यादा बार स्वास्थ्य जांच की आवश्यकता हो सकती है।

बाल चिकित्सा कैंसर केंद्र ठीक हुए बच्चों का उनके हिसाब से योजना बना सकता है। कुछ केंद्रों में ऑनलाइन उपकरण लगे हैं जहां ठीक हुए बच्चे खुद अपने लिए योजना बना सकते हैं। बाल कैंसर केंद्र में हर दीर्घकालिक फ़ॉलो-अप मुलाकात के बाद ठीक हुए बच्चों को आमतौर पर उनकी नवीनतम कॉपी मिलती है।

ठीक होने के बाद खुद भी स्वास्थ्य सेवा सलाहकार

अगर ठीक हुए बच्चों को लगता है तो वे अपने प्राथमिक देखभाल चिकित्सक और दंत चिकित्सकों, नेत्र चिकित्सकों, परामर्शदाताओं और कायरोप्रैक्टर्स सहित अन्य स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के साथ देखभाल योजनाओं को बता सकते हैं। जब भी वे किसी प्रदाता से मिलते हैं, तो उनके पास नवीनतम हुई योजना होनी चाहिए।

ठीक हुए बच्चों को इलाज और फॉलो-अप देखभाल के बारे में जितना संभव हो उतना पता होना चाहिए। उदाहरण के लिए, जिस रोगी का छाती वाली जगह पर रेडिएशन हुआ है उसमें स्तन कैंसर, हृदय की समस्या और फेफड़ों में परेशानी होने का खतरा हो सकता है। इसकी मदद से प्राथमिक चिकित्सक और ठीक हुए बच्चे इन जोखिमों को जानते हैं और हिसाब से निर्धारित करते हैं कि कौन सी जांच कब करनी है, कौन सी परीक्षण कब करना है और ज़रूरत पड़ने पर किसी विशेषज्ञ से कब परामर्श करना है।

कैंसर से ठीक हुए लोगों की देखभाल की योजना में क्या-क्या होता है

हर योजना हर रोगी के हिसाब से होती है।

ठीक हुए लोगों की देखभाल की योजना हर रोगी के हिसाब से होती है। इस छवि में, बचपन में होने वाले कैंसर के इलाज के बाद ठीक हुआ बच्चा अस्तपाल के कमरे में देखभाल प्रदाता से बात कर रहा है।

ठीक हुए लोगों की देखभाल की योजना हर रोगी के हिसाब से होती है।

इलाज सारांश

इलाज के सारांश में शामिल हैं:

  • कैंसर का विवरण: स्थान, स्तर और श्रेणी, सेल/ऊतक के प्रकार और मार्कर की जानकारी
  • इलाज शुरू होने और खत्म होने की तारीख
  • इलाज विवरण: इलाज के प्रकार, दवाई, इलाज के नियम, कुल खुराक, बीमारी के परीक्षण की संख्या और शीर्षक (यदि कोई हो) की पहचान, इलाज प्रतिक्रिया और दुष्प्रभाव
  • नैदानिक सहायता सेवाएं प्रदान की जाती हैं
  • इलाज केंद्र और मुख्य देखभाल प्रदाताओं से संपर्क की जानकारी
  • मुख्य तौर पर किससे संपर्क करना है और देखभाल कौन कर रहा है

फ़ॉलो-अप देखभाल की योजना

इसमें शामिल हो सकते हैं:

  • इलाज के दुष्प्रभावों को संभालने के तरीके
  • कैंसर और अन्य स्थितियों के फिर से होने पता करने के लिए जांच और जांच/परीक्षण सारणी
  • इलाज के संभावित बाद के और दीर्घकालिक प्रभाव और उनके संकेत व लक्षण 
  • पारिवारिक संबंधों, स्कूल और काम पर संभावित प्रभाव
  • परिवार और रोजगार की सहायता के लिए सिफ़ारिश
  • शैक्षिक, बीमा, रोजगार और वित्तीय चिंताएं 
  • वित्तीय और कानूनी सहायता के लिए  सिफ़ारिश
  • स्वस्थ जीवन शैली के लिए सुझाव, जैसे कि पोषण और शारीरिक गतिविधि
  • आनुवांशिक परामर्श और परीक्षण 
  • फॉलो-अप देखभाल के लिए आवश्यक विशेषज्ञों को सिफ़ारिश
  • कैंसर से संबंधित संसाधन

ऑनलाइन देखभाल योजना के साधन

कुछ संगठनों के पास ठीक हुए लोगों की देखभाल की योजना बनाने में मदद करने के लिए ऑनलाइन उपकरण हैं। इनमें शामिल है:

मरीजों को इनमें से किसी उपकरण का इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।

बचपन में होने वाला कैंसर से ठीक होने वाली अपनी कहानी बताते हुए

बचपन में होने वाला कैंसर से ठीक होने वाली मैरी मैकगरी, अटलांटिक से स्टीव क्लेमन के साथ ठीक होने के बारे में चर्चा कर रही हैं।


टूगेदर
इस आलेख में उल्लेखित किसी भी ब्रांडेड उत्पाद का समर्थन नहीं करता है।


समीक्षा की गई: जून, 2018