आपका स्वागत है

Together, बच्चों को होने वाले कैंसर से पीड़ित किसी भी व्यक्ति - रोगियों और उनके माता-पिता, परिवार के सदस्यों और मित्रों के लिए एक नया सहारा है.

और अधिक जानें

बच्चों में दर्द को मापना

दर्द की पहचान कैसे होती है?

दर्द ऐसा लक्षण नहीं है जो त्वचा पर चकत्ते की तरह दिखाई दे या गांठ की तरह स्पर्श योग्य हो। चिकित्सीय टीम आमतौर पर यह नहीं जानती है कि रोगी दर्द में है जब तक कि रोगी उन्हें नहीं बताता है या माता-पिता ने बहुत छोटे रोगियों में ऐसा व्यवहार देखा जिससे उन्हें संदेह होता है कि उनका बच्चा दर्द में है।

रोगियों और माता-पिता को दर्द के लक्षणों के बारे में साफ़-साफ़ बताना चाहिए ताकि कारण और उचित उपचार निर्धारित किया जा सके।

दर्द के बारे में सवालों के जवाब ईमानदारी से दें। इस तस्वीर में एक युवा कैंसर रोगी और उसके पिता बीएआरएफ़ स्केल चार्ट के आगे बैठे हैं।

दर्द के बारे में सवालों के जवाब ईमानदारी से दें। इससे देखभाल टीम को कारणों को समझने और इलाज की योजना बनाने में मदद मिलेगी।

चिकित्सीय टीम सवाल पूछती है कि दर्द रोगी के दैनिक जीवन को कैसे प्रभावित करता है – जैसे कि स्कूल जाना, दोस्तों के साथ खेलना और पसंदीदा गतिविधियों में भाग लेना।

इन सवालों को दर्द के कार्यात्मक मूल्यांकन के रूप में जाना जाता है। टीम इस तरह के सवाल पूछ सकती है

  • क्या दर्द की वजह से सामान्य दैनिक गतिविधियों में परेशानी होती है?
  • क्या आपको सामान्य गतिविधियों जैसे कि पढ़ना, दोस्तों के साथ खेलना, टीवी देखना, वीडियो गेम खेलना या किसी के साथ बात करने में परेशानी होती है?
  • क्या दर्द इतना तीव्र है कि यह आपको शारीरिक गतिविधि को सीमित करने या उनको ना कर का कारण बन रही है? 
  • क्या दर्द के अलावा किसी चीज़ पर ध्यान देना कठिन है?

चिकित्सक 0-10 स्केल का उपयोग करके दर्द की तीव्रता भी निर्धारित करेंगे। रोगी किस तरह से अपने दर्द के बारे में बताते हैं वह उनकी उम्र पर निर्भर करता है। 

4 साल से कम उम्र के रोगी

छोटे रोगियों में आमतौर पर एफ़एलएसीसी स्केल का उपयोग किया जाता है। यह माता-पिता की निगरानी पर निर्धारित है।

4 से 7 साल के रोगी

FACES® (फेसेस) दर्द रेटिंग स्केल-संशोधित छोटे बच्चों को चेहरे के भावों के द्वारा 0-10 के पैमाने पर उनके दर्द को बताने में मदद करता है। चेहरे दिखाते हैं कि कोई चीज दर्द दे सकती है। सबसे बाईं ओर का चेहरा (0) कोई दर्द नहीं दिखाता है। संख्या बढ़ने पर चेहरे अधिक से अधिक दर्द दिखाते हैं। 10 पैमाने का मतलब है कि दर्द बहुत ज़्यादा है। रोगी को उस चेहरे की ओर इशारा करने के लिए कहा जाता है जो दर्द वे इस समय महसूस कर रहे हैं।

8 साल और उससे अधिक उम्र के रोगी

बड़े बच्चे, किशोर और युवा वयस्क अपने दर्द को सरल 0-10 संख्यात्मक स्कोर का उपयोग करके बता सकते हैं – 0 बिना किसी दर्द के और 10 तीव्र दर्द के लिए।

दर्द स्कोर के अलावा चिकित्सक दर्द के प्रकार को वर्गीकृत करेगा।

शारीरिक पीड़ा या तो

  • ऊतक-संबंधी (नोसीसेप्टिव): बीमारी से संबंधित दर्द, सर्जरी या उपचार के दुष्प्रभाव, जैसे कि मुंह के छाले। दर्द हड्डी, जोड़ों, मांसपेशियों, त्वचा या संयोजी ऊतक में हो सकता है। यह आमतौर पर पीड़ा या टीस कहा जाता है।
  • नस-संबंधी (न्यूरोपैथिक): नस संबंधी क्षति या सूजन से होने वाला दर्द। इसे अक्सर जलन, झुनझुनी या चुभन कहा जाता है। यह सर्जरी से घायल नस मे होता है जैसे कि काट के अलग किये हुए अंग में दर्द का एहसास होना, कीमोथेरेपी से होने वाली नस की क्षति जैसे कि विन्क्रिस्टाईन के दुष्प्रभाव या रेडिएशन थेरेपी

चिकित्सक रोगियों और परिवारों को एक डायरी या लेखा-जोखा रखने के लिए भी कह सकते हैं, ताकि वे किसी भी पैटर्न को नोट कर सकें जैसे कि दिन के किस समय दर्द हो सकता है या किस प्रकार की गतिविधियों (या गतिविधि की कमी) के बाद दर्द हो सकता है।

दर्द के कई कारण भी हो सकते हैं और देखभाल टीम के सदस्य रोगी परिवार के साथ इन बातों का पता लगा सकते हैं। परिवार की सहायता के लिए आध्यात्मिक गुरु या सामाजिक कार्यकर्ताओं को बुलाया जा सकता है।

दर्द का सटीक और गहन मूल्यांकन महत्वपूर्ण है क्योंकि यह चिकित्सीय टीम को सर्वोत्तम संभव दर्द प्रबंधन योजना विकसित करने में मदद करता है।


टूगेदर
इस आलेख में उल्लेखित किसी भी ब्रांडेड उत्पाद का समर्थन नहीं करता है।


समीक्षा की गई: जून 2018