आपका स्वागत है

Together, बच्चों को होने वाले कैंसर से पीड़ित किसी भी व्यक्ति - रोगियों और उनके माता-पिता, परिवार के सदस्यों और मित्रों के लिए एक नया सहारा है.

और अधिक जानें

मैग्नेटिक रेसोनेंस इमेजिंग (एमआरआई)

एमआरआई (मैग्नेटिक रेसोनेंस इमेजिंग) में शरीर के अंदर की उच्च गुणवत्ता वाली, विस्तृत तस्वीरें बनाने के लिए एक बड़े चुंबक, रेडियो तरंगों और कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है. एमआरआई जांच में दर्द नहीं होता. मरीजों को चुंबकीय क्षेत्र या रेडियो तरंगों का एहसास नहीं होता है.

चिकित्सक मस्तिष्क, रीढ़, जोड़ों (घुटने, कंधे, कूल्हे, कलाई और टखने), पेट, पेल्विक एरिया, स्तन, रक्त वाहिकाओं, हृदय और शरीर के अन्य अंगों की जांच करने के लिए एमआरआई का उपयोग करते हैं. एमआरआई का उपयोग कैंसर सहित कई बीमारियों के निदान में मदद करने, उपचार की प्रगति का निरीक्षण करने और उपचार पूरा कर चुके रोगियों में रोग के कम होने की निगरानी करने के लिए किया जा सकता है.

एमआरआई में आयनीकृत रेडिएशन शामिल नहीं है. तस्वीरों की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए एक कंट्रास्ट सामग्री का उपयोग किया जा सकता है.

एमआरआई स्कैनर तस्वीरों को बनाने के लिए प्रबल चुंबकीय क्षेत्र और रेडियो तरंगों (रेडियोफ़्रीक्वेंसी ऊर्जा) का उपयोग करते हैं. एमआरआई जांच के दौरान, रोगी को एक प्रबल चुंबकीय क्षेत्र के अंदर रखा जाता है. फिर रेडियो तरंगों को शरीर के हिस्से की जांच करने के लिए मशीन में एक ट्रांसमीटर/रिसीवर से भेजा और प्राप्त किया जाता है और इन संकेतों का उपयोग शरीर के स्कैन किए गए क्षेत्र की डिजिटल तस्वीरें बनाने के लिए किया जाता है.

एमआरआई जांच के दौरान क्या होता है?

बाल जीवन विशेषज्ञ और दो एमआरआई टेक्नोलॉजिस्ट के साथ अपने पैर का एमआरआई कराती एक रोगी.

सामान्य एमआरआई स्कैन में 20-90 मिनट का समय लगता है. यह शरीर के जांच वाले अंग पर निर्भर करता है.

  • एमआरआई के लिए मुलाकात की शुरुआत, रोगी और माता-पिता के पंजीकरण डेस्क पर आने के साथ और परीक्षण के लिए वापस बुलाए जाने की प्रतीक्षा के साथ शुरू होती है. चेक-इन के लिए दिए गए मुलाकात के समय से कुछ मिनट पहले पहुंचना आवश्यक होता है.
  • जब परीक्षण का समय होता है, तो एक एमआरआई टेक्नोलॉजिस्ट या नर्स, रोगी और माता-पिता को एमआरआई सिस्टम या “स्कैनर” वाले कमरे में भेज देगा.
  • एमआरआई मशीन बीच में एक सुरंग के साथ एक बड़े डोनट की तरह दिखती है. इसमें एक गद्देदार मेज (कभी-कभी एक बिस्तर कहा जाता है) होती है जो सुरंग के अंदर और बाहर स्लाइड करती है. रोगी जांच के लिए मेज पर लेटता है और जब तक एमआरआई चलती है, तब तक उसे स्थिर ही रहना चाहिए. जांच के दौरान हिलने से तस्वीर धुंधली हो जाएगी और जांच फिर से करनी पड़ेगी. एक बाल जीवन विशेषज्ञ, रोगी को शांति से लेटने के लिए समझा सकता है. रोगी संगीत भी सुन सकते हैं या विशेष चश्मे का उपयोग करके फिल्म देख सकते हैं. जिन रोगियों को शांत रहने में समस्याएं होती हैं, उन्हें बेहोश किया जा सकता है, ताकि वे आराम कर सकें या प्रक्रिया के दौरान सो सकें.
  • एमआरआई जांच में दर्द नहीं होता है और न तो चुंबकीय क्षेत्र और न ही रेडियो तरंगों को महसूस किया जाता है. लेकिन जांच में बहुत शोर होता है. रोगियों को शोर को रोकने और कान की सुरक्षा के लिए ईयरप्लग या शोर कम करने वाले हेडफ़ोन दिए जाएंगे.
  • जांच के दौरान, टेक्नोलॉजिस्ट बगल के कमरे में चले जाएंगे और रोगी को देखने, सुनने और उससे बात करने में सक्षम होंगे. रोगी दो-तरफ़ा इंटरकॉम के माध्यम से टेक्नोलॉजिस्ट से बातचीत कर सकता है. हर बाल चिकित्सा केंद्र की अलग-अलग नीतियां हैं, लेकिन आमतौर पर माता-पिता को टेक्नोलॉजिस्ट के साथ बगल के कमरे में रहने की अनुमति होती है.
  • सामान्य एमआरआई स्कैन में 20-90 मिनट का समय लगता है. यह शरीर के जांच वाले अंग पर निर्भर करता है.
  • स्कैन के बाद, मरीज सामान्य गतिविधियों को फिर से शुरू कर सकते हैं अगर उन्हें बेहोश न किया गया हो. जिन रोगियों को बेहोश किया गया था, उन्हें पहले सामान्य होने की आवश्यकता होगी.

कंट्रास्ट

कुछ मामलों में, एमआरआई तस्वीरें साफ़ और सही दिखाई देने में मदद करने के लिए रोगियों को कंट्रास्ट एजेंट दिया जाता है. कंट्रास्ट एक IV के माध्यम से दिया जाता है. अगर रोगी के पास पहले से IV या पोर्ट नहीं है, तो नर्स को IV शुरू करना होगा.

कंट्रास्ट एजेंट जिसे गैडोलीनियम कहा जाता है, आमतौर पर एमआरआई के दौरान उपयोग किया जाता है. गैडोलिनियम उन रोगियों को नहीं दिया जाना चाहिए जो गर्भवती हैं, जिन्हें इस पदार्थ से पहले एलर्जी हुई है या जिन्हें किडनी की गंभीर बीमारी है. इसके अलावा, माता-पिता को चिकित्सकीय टीम को यह बताना चाहिए कि रोगी को हृदय रोग, अस्थमा, मधुमेह या थायराइड की समस्या तो नहीं है. कुछ रोगियों को कंट्रास्ट के इंजेक्शन के बाद उनके मुंह में धातु का एक अस्थायी स्वाद महसूस हो सकता है. कुछ रोगियों को मतली और स्थानीय दर्द सहित कंट्रास्ट सामग्री के दुष्प्रभावों का अनुभव होता है. बहुत कम ही, रोगियों को कंट्रास्ट से एलर्जी होती है और उन्हें पित्ती, आंखों में खुजली या अन्य प्रतिक्रियाओं का अनुभव होता है. अगर ऐसा होता है, तो एक रेडियोलॉजिस्ट या अन्य चिकित्सक तत्काल सहायता के लिए उपलब्ध होंगे.

पेट या संयुक्त रूप से पेट और पेल्विस का एमआरआई

अगर डॉक्टर पेट या पेट और पेल्विस का एमआरआई स्कैन शेड्यूल करता है, तो रोगी को जो अंतःशिरा (नस के ज़रिए) हायसोसाइमिन (Levsin®) नामक दवा दी जा सकती है. यह दवा एमआरआई स्कैन के दौरान आंत की गति को कम कर देगी और एमआरआई तस्वीर साफ़ आएगी.

हायसोसाइमिन (Levsin®) के संभावित दुष्प्रभावों में त्वचा का फूलना, हृदय गति का बढ़ना, पेट में हल्का दर्द और कब्ज शामिल हैं. ये दुष्प्रभाव आमतौर पर हल्के होते हैं. अगर रोगियों को कुछ ज्ञात चिकित्सीय समस्याएं हैं या वे एक ऐसी दवा ले रहे हैं जिससे बुरी तरह से रिएक्शन होने की संभावना बढ़ सकती है, तो रोगियों को हायसोसाइमिन (Levsin®) नहीं दी जाएगी.

एमआरआई के लिए कैसी तैयारी करें

अगर रोगियों को बेहोश किया जाना है, तो उन्हें परीक्षण से पहले कई घंटों तक खाना या पीना नहीं चाहिए. रोगियों और परिवारों को उनके बाल चिकित्सा केंद्र में विशिष्ट निर्देश दिए जाएंगे.

एमआरआई के शक्तिशाली चुंबक के कारण, रोगियों और माता-पिता (अगर साथ हैं) को एमआरआई वाले क्षेत्र में प्रवेश करने से पहले किसी भी धातु की वस्तुओं को निकालना होगा.

रोगी या माता-पिता के एमआरआई क्षेत्र में प्रवेश करने से पहले, कर्मचारी माता-पिता को एक जांच संबंधी फ़ॉर्म भरने के लिए कहेंगे जो रोगी के शरीर या कपड़ों में किसी भी धातु के बारे में पूछता है. धातु के स्नैप, ज़िपर या रिवेट्स के बिना कपड़े पहनना सबसे अच्छा है. माता-पिता को रोगी में प्रयुक्त किसी भी चिकित्सा प्रत्यारोपण के बारे में चिकित्सा टीम को सूचित करना चाहिए. रोगी को पहनने के लिए अस्पताल का गाउन दिया जा सकता है.

मेटल डिटेक्टर स्कैन के बाद कैंसर से पीड़ित बच्चे के पिता एमआरआई टेक्नोलॉजिस्ट को फ़ोन देते हुए.

एमआरआई क्षेत्र में प्रवेश करने वाले किसी भी व्यक्ति को मेटल डिटेक्टर से गुजरना होगा जो कि अधिकांश हवाई अड्डों की तुलना में अधिक संवेदनशील होता है.

जिन वस्तुओं को हटाया जाना चाहिए उनमें शामिल हैं:

  • पर्स, वॉलेट, मनी क्लिप, क्रेडिट कार्ड, चुंबकीय स्ट्रिप्स वाले कार्ड
  • फ़ोन जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरण
  • कान की मशीन
  • धातु के गहने, घड़ियां
  • पेन, पेपर क्लिप, चाबियां, सिक्के
  • हेयर बैरेट, हेयरपिन
  • ऐसे कपड़े जिनमें धातु ज़िपर, बटन, स्नैप, हुक, अंदर की ओर वायर या धातु के धागे लगे होते हैं
  • जूते, बेल्ट के बक्कल, सेफ़्टी पिन्स
  • दवा पैच

ज़्यादातर बाल चिकित्सा केंद्र में, एमआरआई क्षेत्र में प्रवेश करने वाले किसी भी व्यक्ति को मेटल डिटेक्टर से गुजरना होगा जो कि अधिकांश हवाई अड्डों की तुलना में अधिक संवेदनशील होता है. अगर डिटेक्टर दिखाता है कि व्यक्ति के पास या शरीर में धातु है, तो इस व्यक्ति को धातु को निकालना होगा और जांच फिर से की जाएगी. अगर धातु को हटाया हीं जा सकता है, तो व्यक्ति को उस क्षेत्र में तब तक प्रवेश नहीं दिया जा सकता, जब तक कि एक योग्य MR सुरक्षा विशेषज्ञ यह निर्धारित नहीं कर लेता है कि यह “एमआरआई सुरक्षित है.”

अगर ये चीजें स्कैन किए जा रहे क्षेत्र के करीब हों तो तस्वीर की गुणवत्ता खराब हो सकती है:

  • धातु की रीढ़ की हड्डी
  • हड्डी या जोड़ की मरम्मत के लिए उपयोग की गई प्लेट, पिन, स्क्रू या धातु की जाली
  • जोड़ का प्रतिस्थापन या कृत्रिम अंग
  • शरीर में सजावट के लिए इस्तेमाल किए गए धातु के गहने
  • कुछ टैटू या टैटू वाला आईलाइनर (त्वचा में जलन या सूजन की संभावना भी है)
  • मेकअप, नेल पॉलिश या अन्य सौंदर्य प्रसाधन जिनमें धातु होती है
  • भरवाया गया दांत, दांत ठीक करने के लिए लगाए जाने वाले ब्रेसिज़ और रिटेनर
ब्रेसिज़ में लगे मेटल डिवाइस के साथ एमआरआई

ब्रेसिज़ में लगे मेटल डिवाइस के साथ एमआरआई

एक फीमर (जाँघ की हड्डी) का एमआरआई जो मेटल डिवाइस को दर्शाता है

एक फीमर (जाँघ की हड्डी) का एमआरआई जो मेटल डिवाइस को दर्शाता है

मरीजों को परीक्षण के परिणाम कैसे मिलते हैं?

एक रेडियोलॉजिस्ट, एक डॉक्टर, जो एमआरआई स्कैन पढ़ने में विशेष प्रशिक्षण लेता है, तस्वीर का विश्लेषण करेगा और संदर्भित चिकित्सक के लिए एक रिपोर्ट तैयार करेगा. रोगी की अगली मुलाकात के दौरान संदर्भित चिकित्सक परीक्षण के परिणामों को समझाएगा.

कैंसर से पीड़ित बच्ची पूरे शरीर के एमआरआई स्कैन के लिए तैयार है. उसके बगल में उसके पिता और दो एमआरआई टेक्नोलॉजिस्ट हैं.

एमआरआई जांच में दर्द नहीं होता है और न तो चुंबकीय क्षेत्र और न ही रेडियो तरंगों को महसूस किया जाता है. 


इसके साथ-साथ
इस आलेख में उल्लेखित किसी भी ब्रांडेड उत्पाद का समर्थन नहीं करता है.


समीक्षा की गई: जून 2018