आपका स्वागत है

Together, बच्चों को होने वाले कैंसर से पीड़ित किसी भी व्यक्ति - रोगियों और उनके माता-पिता, परिवार के सदस्यों और मित्रों के लिए एक नया सहारा है.

और अधिक जानें

मुंह से ली जाने वाली कीमोथेरेपी दवाओं की घर पर सुरक्षित तरीके से हैंडलिंग करना

बचपन में होने वाले कैंसर के इलाज के लिए दी जाने वाली कुछ कीमोथेरेपी दवाएं घर पर ही मुंह के माध्यम से दी जा सकती हैं। मुंह के माध्यम से दवा दिया जाना अपेक्षाकृत आसान होता है। हालांकि, घर पर कीमोथेरेपी दवाएं देते समय कुछ महत्वपूर्ण सुरक्षा मानकों का ध्यान रखना आवश्यक होता है।

हालांकि कीमोथेरेपी दवाओं को कैंसरग्रस्त कोशिकाओं को मारने के लिए बनाया गया है, लेकिन ये शरीर की सामान्य कोशिकाओं को भी नुकसान पहुंचा सकती हैं। ये दवाएं कई बार त्वचा के माध्यम से अवशोषित कर ली जाती हैं या सांस के माध्यम से फेफड़ों तक पहुंच जाती है। अगर ये दवाएं भोजन के या घर में रोजमर्रा में काम आने वाली सतहों के संपर्क में आ जाए, तो परिवार के सदस्य भी कीमोथेरेपी दवाओं से प्रभावित हो सकते हैं।

इस स्थिति में यह आवश्यक हो जाता है कि परिवार के सदस्यों तथा देखभालकर्ताओं को कीमोथेरेपी दवाओं को सावधानी से हैंडल करने की जानकारी हो, ताकि जोखिम संभावनाओं को कम किया जा सके। गर्भवती महिलाओं और स्तनपान करवा रही महिलाओं को इन दवाओं से किसी भी प्रकार के संपर्क से बचना चाहिए।

घर में लाई जाने वाली सभी कीमोथेरेपी दवाओं को संभावित जोखिम के रूप में देखा जाना चाहिए। ये आसान चरण, रोगी, उसके परिवार के सदस्यों और देखभालकर्ताओं को नुकसान से बचा सकते हैं।

सुरक्षा चेतावनियां:

  • दवा के लेबल को पढ़ें तथा खुराक से संबंधित निर्देशों का कड़ाई से पालन करें।
  • कीमोथेरेपी दवाओं को हैंडल करने से पहले और बाद में अच्छी तरह से हाथ धो लें।
  • निर्देशानुसार, दस्ताने, मास्क और/या सुरक्षा चश्मा पहनें।
  • सतह को साफ़ करें, दवा के साथ इस्तेमाल की गई सभी वस्तुओं को धो लें।
  • दवाओं को बच्चों, पालतू जानवरों की पहुंच से दूर तथा भोजन से दूर स्टोर करें।
  • दवाओं का सही तरीके से निपटान करें।
 

कीमोथेरेपी दवाओं को स्टोर करना

  • कीमोथेरेपी दवाओं को बच्चों तथा पालतू पशुओं की पहुंच से दूर रखें।
  • कीमोथेरेपी दवाओं को, घर के अन्य सदस्यों द्वारा खाए जाने वाले भोजन या ली जाने वाली दवाओं से दूर एक अलग स्थान पर स्टोर करें।
  • दवाओं को एक सूखे और ठंडे स्थान पर सूर्य के प्रकाश और नमी से दूर स्टोर करें। बाथरूम में स्टोर न करें। कुछ कीमोथेरेपी दवाओं को फ्रिज़ में रखने की आवश्यकता पड़ सकती है।

कीमोथेरेपी दवाओं के सुरक्षित भंडारण और सुरक्षित निपटान के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करें

कीमोथेरेपी की दवाओं का प्रबंधन

  • कीमोथेरेपी की दवाओं का उपयोग करने से पहले और बाद में हाथ धोएं।
  • दवाओं को एक साफ़ सतह पर ही रख कर प्रबंधित करें।
  • दवाओं को भोजन और दूसरे घरेलू सामानों से दूर तथा अलग रखें।
  • रोगी को दवा देते समय दवा को अपने हाथ में न लें, इसकी बजाय उसे एक छोटे कप में गोलियां डालकर दवा दें।
  • निर्देशानुसार सुरक्षा उपकरण (दस्ताने, मास्क, और/या चश्मा) पहनें।
    • डिस्पोज़ेबल नाइट्राइल दस्ताने पहनें। लेटेक्स के दस्ताने या आसानी से फट जाने या पंक्चर हो जाने वाले दस्तानों का उपयोग न करें।
    • दस्ताने, देखभालकर्ताओं को त्वचा के माध्यम से कीमोथेरेपी दवा के संपर्क में आने से सुरक्षा प्रदान करते हैं। अगर रोगी के अलावा कोई भी व्यक्ति कभी भी कीमोथेरेपी दवा को हैंडल कर रहा है, तो उसे दस्तानों का उपयोग करना चाहिए।
    • रोगी को अपनी दवा लेते समय दस्ताने पहनने की आवश्यकता नहीं होती है। रोगी को कीमोथेरेपी दवाओं को हैंडल करने से पहले और बाद में, साबुन और पानी से अपने हाथ अच्छी तरह से धोने चाहिए। इससे घर के अन्य सदस्यों के दवा के संपर्क में आने की संभावनाएं कम हो जाएंगी।
    • डिस्पोज़ेबल मास्क, देखभालकर्ताओं के शरीर में सांस के माध्यम से कीमोथेरेपी दवा जाने से रोकता है।
    • गोलियों को टुकड़े करते समय या पीसते समय मास्क का उपयोग करना पड़ सकता है।
    • यदि आपके चिकित्सक या फॉर्मासिस्ट ने मास्क पहनने का निर्देश दिया है, तो ही मास्क पहनें।
    • सुरक्षा गोगल्स या चश्में, आंखों की कीमोथेरेपी दवाओं से रक्षा करते हैं, दवा के तरल रूप में होने पर ये विशेष तौर पर उपयोगी होते हैं।
    • अगर दवा के बिखरने या उछलने की कोई संभावना हो, तो आंखों की सुरक्षा बहुत ज़रूरी हो जाती है।

कीमोथेरेपी दवाओं को टुकड़े करना या पीसना

  • कुछ दवाओं को उपयोग से पहले टुकड़े करना या पीसना पड़ता है। कुछ गोलियों (जैसे कि मर्कैप्टोप्यूरिन) को टेबलेट कटर का उपयोग करके टुकड़े करना पड़ सकता है। कुछ जेल कैप्सूल (जैसे कि आइसोट्रेटियोनिन )को कैंची का उपयोग करके टुकड़े करना पड़ सकता है। अगर आप कीमोथेरेपी की दवा के लिए टेबलेट कटर, कैंची या टेबलेट क्रशर का उपयोग कर रहे हैं, तो इन उपकरणों को किसी दूसरी दवा के लिए काम में न लें, न ही इनका कोई और उपयोग करें।
  • वह स्थान जहां पर दवा को पीसा या टुकड़े किया जा रहा है, वह साफ़ होना चाहिए तथा वहां पर कूड़ा करकट नहीं होना चाहिए।
  • दवाओं को टेबल या काउंटर जैसी किसी उंची सतह पर तैयार करें।
  • कीमोथेरेपी दवाओं को पंखे या वेंट (झरोखों) के पास काटने या पीसने से बचें। इससे दवा उड़ नहीं पाएगी।
  • कीमोथेरेपी दवाओं को काटने या पीसने से पहले, काम करने की जगह को डिस्पोज़ेबल प्लास्टिक से कवर कर दें। इससे सतह को साफ़ करना आसान रहेगा तथा इस पर दवा बिखर नहीं पाएगी।
  • कीमोथेरेपी दवा की खुराक देने के बाद:
    • दस्तानों को अंदर से बाहर की ओर पलटते हुए निकाल दें। दस्तानों को इस्तेमाल के बाद फेंक दें। दस्तानों का दोबारा इस्तेमाल न करें।
    • गर्म पानी और साबुन के घोल से अच्छी तरह से हाथ धो लें।

बिखरी हुई कीमोथेरेपी दवा को साफ़ करना

  • जहां दवा बिखरी है उस स्थान को अवरुद्ध कर दें, बच्चों और पालतू जानवरों को वहां न जाने दें।
  • इस स्थान को साफ़ करने से पहले दस्ताने पहन लें।
  • अगर तरल दवा बिखर गई है तो तरल को सोखने के लिए सोखने वाले पेपर टॉवल का इस्तेमाल करें। बिखरी हुई जगह पर बाहर से अंदर की ओर सफाई करें। पेपर टॉवल को प्लास्टिक के बैग में डाल दें और इसे सील कर दें।
  • इस स्थान को गर्म और साबुन के पानी से दो बार साफ़ करें।
  • इस स्थान को पानी से धो दें।
  • अगर दवा कपड़ों पर गिर गई है तो इन्हें प्लास्टिक के बैग में डाल कर सील कर दें। जितनी जल्दी हो सके, इन कपड़ों को धो लें; इस्तेमाल से पहले इन कपड़ों को एक बार दोबारा धोएं। दूसरी लॉन्ड्री में अलग से धोएं। 
  • अगर कीमोथेरेपी दवा आंखों में चली जाए तो क्या करें:
    • नल में ठंडा पानी चालू कर लें और आंखों को पानी से कम से कम 15 मिनट तक धोएं। अतिरिक्त निर्देशों के लिए अपने चिकित्सक से संपर्क करें।
  • अगर कीमोथेरेपी दवा त्वचा पर लग जाए:
    • प्रभावित हिस्से को सबसे पहले ज़्यादा पानी से धोएं, इसके बाद 10 मिनट तक साफ़ पानी और साबुन के पानी से धोएं। अगर प्रभावित स्थान पर कोई जलन या लाल निशान दिखाई देता है तो तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें।

अतिरिक्त संसाधन


समीक्षा की गई: जुलाई 2018