आपका स्वागत है

Together, बच्चों को होने वाले कैंसर से पीड़ित किसी भी व्यक्ति - रोगियों और उनके माता-पिता, परिवार के सदस्यों और मित्रों के लिए एक नया सहारा है.

और अधिक जानें

पैर हिलाने की बीमारी

पैर हिलाने की बीमारी क्या है?

पैर हिलाने की बीमारी (आरएलएस) एक तंत्रिका-सम्बंधित नींद की बीमारी है, जो नींद या आराम के दौरान पैर हिलने से संबंधित है। मरीजों को पैरों में दर्द या असुविधाजनक संवेदना होने पर अपने पैरों को हिलाने के लिए अत्यधिक दबाव डालना पड़ता है। लक्षण तब दिखाई देते हैं, जब कोई व्यक्ति सक्रिय नहीं होता है, आमतौर पर शाम को या रात में। सिंड्रोम को विलिस-एकबॉम बीमारी के रूप में भी जाना जाता है।

आरएलएस के कारण सोना या गहरी नींद लेना मुश्किल हो जाता है। इलाज में लक्षणों से निपटने और नींद के पैटर्न को बेहतर बनाने में मदद करने के लिए जीवनशैली में बदलाव शामिल है। कुछ मरीजों को दवा की भी आवश्यकता हो सकती है।

पैर हिलाने की बीमारी के लक्षण

पैर हिलाने की बीमारी (आरएलएस) के लक्षणों में शामिल हैं:

  • आराम करते समय पैरों को हिलाने की इच्छा
  • पैरों में खुजली, रेंगने, खिंचाव या दर्द होना
    • लक्षण रात में बद्तर हो जाते हैं; सुधार या गति के साथ जाना या दबाव; आमतौर पर शरीर के दोनों तरफ़ होते हैं, लेकिन एक तरफ हो सकते हैं या दूसरी तरफ जा सकते हैं; गंभीरता और आवृत्ति में भिन्न हो सकती है; और आ-जा सकते हैं

पैर हिलाने की बीमारी के लक्षणों के बारे में बताना मुश्किल हो सकता है, खासकर बच्चों के लिए। संवेदना सामान्य तौर पर ऐसे लगती है, जैसे कि वे त्वचा की सतह के बजाय पैरों के भीतर होती हैं। बच्चे संवेदना का वर्णन इस तरह कर सकते हैं:

  • उनके पैरों को हिलाने, लात मारने या खींचने की जरूरत है
  • चींटियों या कीड़ों के काटने जैसा लग रहा है या उनके पैरों में कुछ रेंग रहा है
  • पैरों में "चुभन", "चिकोटी", “ऐंठन” "कुछ रेंगने जैसा" या "झुंझुनाहट" महसूस होती है

पैर हिलाने की बीमारी के कारण

कुछ कारकों के कारण आरएलएस का जोखिम बढ़ जाता है। इनमें शामिल है:

  • फ़ेरिटिन (आयरन के संग्रहण) का कम स्तर
  • कुछ अवसादरोधी दवाओं और मचली-रोधी दवाओं सहित दवाइयां
  • परिवार में आरएलएस का इतिहास
  • एडीएचडी
  • चिंता
  • उदासी की बीमारी / निराशा की बीमारी
  • गुर्दे की बीमारी
  • सिकल सेल रोग
  • पेरिफ़ेरल (सतही) न्यूरोपैथी

पैर हिलाने की बीमारी के रोग की पहचान करना

पैर हिलाने की बीमारी (आरएलएस) के आकलन में शामिल हैं:

  • चिकित्सकीय इतिहास और शारीरिक जांच
  • लक्षणों को जानने के लिए मरीज और परिवार से बातचीत या उनसे सवाल पूछना
  • कुछ दवाइयों के दुष्प्रभाव के कारण नींद की समस्या हो रही है, यह जानने के लिए दवाइयों को जांचना
  • खून में आयरन के स्तर को मापने के लिए प्रयोगशाला में जांच करना

आरएलएस के रोग की पहचान के लिए चिकित्सक 5 मापदंड देखते हैं:

  1. सामान्य तौर पर असुविधाजनक या अरुचिकर संवेदना होने से पैर को हिलाने की इच्छा होती है।
  2. निष्क्रियता या आराम के दौरान लक्षण विकसित होते हैं या बद्तर हो जाते हैं।
  3. गति के साथ लक्षणों में सुधार होता है।
  4. शाम या रात में लक्षण सबसे अधिक ध्यान देने योग्य होते हैं।
  5. लक्षण अन्य स्थिति के कारण नहीं होते हैं।

पैर हिलाने की बीमारी के रोग का इलाज

पैर हिलाने की बीमारी (आरएलएस) का इलाज, कारण, स्थिति की गंभीरता और मरीज की उम्र पर निर्भर करता है। हर मरीज के लिए कोई एक ही इलाज काम नहीं करता है, और समय के साथ इलाज की ज़रूरतें बदल सकती हैं।

जीवनशैली और व्यवहार परिवर्तन – हल्के से मध्यम आरएलएस लक्षणों का इलाज पहले जीवनशैली में बदलाव करके किया जाता है। सलाह में शामिल हैं:

  • स्वस्थ्य नींद की आदतें
  • मध्यम-तीव्रता वाली शारीरिक गतिविधि और स्ट्रेचिंग व्यायाम
  • कैफीन और निकोटीन से बचना
  • पैरों की मांसपेशियों को आराम देने के लिए मालिश, गर्म पानी से स्नान, हीटिंग पैड या आइस पैक से सेंक करें (यदि मरीज का इलाज चल रहा है, तो पहले देखभाल टीम से पूछ लें)
  • विश्राम तकनीकें जैसे गहरी साँस लेना और ध्यान करना 

आयरन सप्लिमेंट - यदि मरीज के खूल में फेरिटिन का निम्न स्तर (कम सीरम फेरिटिन) हो, तो चिकित्सक आयरन सप्लिमेंट लेने की सलाह दे सकते हैं। सप्लिमेंट काउंटर पर उपलब्ध होते हैं। हालांकि, परिवारों को यह सुनिश्चित करने के लिए अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से पूछना चाहिए कि आयरन का उचित प्रकार और खुराक दिया गया है या नहीं। दुष्प्रभाव के कारण पेट खराब हो सकता है और कब्ज हो सकता है। बहुत अधिक आयरन खतरनाक हो सकता है, विशेषकर छोटे बच्चों के लिए।

अन्य दवाएं – अधिक गंभीर आरएलएस लक्षणों के लिए, कई प्रकार की दवाओं से वयस्कों में आरएलएस के लक्षणों के इलाज में लाभ होता है। हालांकि, अधिकांश दवाओं को बच्चों में आरएलएस के इलाज के लिए स्वीकृत नहीं किया गया है। आरएलएस के लिए इस्तेमाल की जाने वाली कई दवाएं, अन्य स्थितियों के लिए भी इस्तेमाल की जाती हैं।

खुराक निर्देशों का सावधानीपूर्वक पालन करना ज़रूरी है। जब दवा का इस्तेमाल नींद और आरएलएस के लक्षणों के लिए किया जाता है या अन्य कारणों के लिए इस्तेमाल होने पर किया जाता है, तो इसकी खुराक और समय अलग-अलग हो सकता है। यदि प्रिस्क्राइब की गई मात्रा से अधिक बार या अधिक मात्रा में दवाईयां ली जाएं, तो ये दवाइयां असुरक्षित हो सकती हैं। परिवारों को सुरक्षित रूप से दवाओं को रखना और बच्चों की पहुंच से दूर रखना सुनिश्चित करना चाहिए।

पैर हिलाने की बीमारी पर अधिक जानकारी के लिए संसाधन


समीक्षा की गई: जून 2019