आपका स्वागत है

Together, बच्चों को होने वाले कैंसर से पीड़ित किसी भी व्यक्ति - रोगियों और उनके माता-पिता, परिवार के सदस्यों और मित्रों के लिए एक नया सहारा है.

और अधिक जानें

लक्षित इलाज

लक्षित इलाज नए प्रकार की दवाएं हैं, जो कैंसर कोशिकाओं के विशिष्ट लक्षणों को ठीक करने का काम या उन्हें लक्षित करती हैं। लक्षित इलाज को कभी-कभी मॉलेक्यूलर्ली लक्षित इलाज या सटीक दवाई कहा जाता है। प्रत्येक लक्षित दवा कैंसर कोशिका फंक्शन के एक निश्चित पहलू पर काम करती है। ये दवाएं बचपन में होने वाले कैंसर के इलाज में मौजूदा समय में होने वाले जाँच-विज्ञान का एक प्रमुख केंद्र हैं।

लक्षित इलाज कैसे काम करती है?

कैंसर कोशिकाएं सामान्य, स्वस्थ कोशिकाओं से भिन्न होती हैं। उनके वंशाणु और प्रोटीन में परिवर्तन होते हैं जो कोशिका को कार्य करने का तरीका बताते हैं। लक्षित इलाज इन उत्परिवर्तनों का उपयोग करके हस्तक्षेप करती हैं कि इससे कैंसर कोशिकाएं कैसे बढ़ती हैं, विभाजित होती हैं या फैलती हैं।

लक्षित इलाज के प्रकार के आधार पर दवा मॉलेक्यूल पर काम कर सकती है:

  • कैंसर कोशिका मेम्ब्रेन (झिल्ली) के बाहर, जहां यह अन्य कोशिकाओं से संदेश प्राप्त करता है।
  • कैंसर कोशिका के साइटोप्लाज़्म (कोशिकाद्रव्य) के भीतर, जहां अधिकांश कोशिका गतिविधि चलती रहती हैं।
  • कैंसर कोशिका के नूक्लीअस (केंद्र) में, जहां आनुवंशिक जानकारी संग्रहीत होती है और कोशिका का फंक्शन नियंत्रित होता है।
  • रक्त वाहिका कोशिकाओं पर, जो ट्यूमर कोशिकाओं को “फ़ीड” करते हैं।

लक्षित दवा उन संकेतों को अवरुद्ध कर सकती है, जो कैंसर कोशिका को बताता है कि क्या करना है। या, दवा उस तरीके को बदल सकती है, जिससे कैंसर कोशिका, कोशिका के बढ़ने के लिए ज़रूरी प्रोटीन को बनाती है। कुछ लक्षित इलाज रक्त वाहिकाओं को कैंसर कोशिकाओं में ऑक्सीजन और पोषक तत्वों की आपूर्ति को रोककर काम करती हैं। अन्य लक्षित इलाज कैंसर कोशिका को ख़त्म करने में मदद कर सकती हैं।

निश्चित लक्ष्य या कार्रवाई कुछ भी हो, लेकिन लक्षित इलाज का मुख्य लक्ष्य कैंसर कोशिकाओं के फंक्शन को बाधित करना है, ताकि वे न तो विकसित हो सकें और न ही जीवित रह सकें।

हर एक कोशिका ऐसे वंशाणु से नियंत्रित होती है जो निर्धारित करते हैं कि कोशिकाओं को कैसे काम करना है, कब बढ़ना और कब विभाजित होना है। कैंसर कोशिकाओं के वंशाणु और प्रोटीन में परिवर्तन होते हैं जो कोशिका को कार्य करने का तरीका बताते हैं। लक्षित इलाज इन उत्परिवर्तनों का उपयोग करके हस्तक्षेप करती हैं कि इससे कैंसर कोशिकाएं कैसे बढ़ती हैं, विभाजित होती हैं या फैलती हैं।

हर एक कोशिका ऐसे वंशाणु से नियंत्रित होती है जो निर्धारित करते हैं कि कोशिकाओं को कैसे काम करना है, कब बढ़ना और कब विभाजित होना है। कैंसर कोशिकाओं के वंशाणु और प्रोटीन में परिवर्तन होते हैं जो कोशिका को कार्य करने का तरीका बताते हैं। लक्षित इलाज इन उत्परिवर्तनों का उपयोग करके हस्तक्षेप करती हैं कि इससे कैंसर कोशिकाएं कैसे बढ़ती हैं, विभाजित होती हैं या फैलती हैं।

लक्षित इलाज का इस्तेमाल कैसे किया जाता है?

बचपन में होने वाले विभिन्न प्रकार के कैंसरों के इलाज के लिए लक्षित इलाज का इस्तेमाल किया जा सकता है। लक्षित दवा का उपयोग करने से पहले चिकित्सक यह देखने के लिए जांच करते हैं कि ट्यूमर कोशिका में कुछ आनुवंशिक परिवर्तन या उत्परिवर्तन हैं या नहीं। यदि कोई अन्य इलाज काम नहीं किया है या कैंसर वापस हो गया है, तो चिकित्सक लक्षित इलाज भी आज़मा सकते हैं।

लक्षित इलाज का अकेले या अन्य इलाजों जैसे कीमोथेरेपी, सर्जरी और रेडिएशन थेरेपी के साथ प्रयोग किया जा सकता है। कभी-कभी एक से ज़्यादा लक्षित इलाज की दवा दी जा सकती है।

लक्षित इलाज के तरीके तेजी से विकसित हो रहे हैं और बचपन में होने वाले विभिन्न कैंसर में इसका परीक्षण किया जा रहा है। बचपन में होने वाले कैंसर में अधिकांश लक्षित इलाज का बीमारी के परीक्षण के भाग के रूप में अध्ययन किया जा रहा है।

बचपन में होने वाले कैंसर के इलाज के लिए अध्ययन किए जा रहे कुछ लक्षित दवाओं में ये शामिल हैं:

दवा लक्ष्य
ग्लीवेक
बीसीआर-एबीएल
एवरोलिमस, सिरोलिमस
एमटीओआर
रिबोसिलिब और पाल्बोसिक्लिब
सीडीके4/6
अलाइसेर्टिब
अरोरा किनसे ए
लैरोट्रेक्टिनिब
पैन-टीआरके
इर्डाफिटिनिब
एफजीएफआर
दवा लक्ष्य
टजेमेटोस्टट
इज़ेडएच2
एलवाय3023414
पीआई3के/एमटीओआर
सेलुमेटिनिब, ट्रामेटिनिब
एमईके
एनस्टार्टिनिब, क्राइज़ोटिनिब, एन्ट्रक्टीनिब, सेरेटिनिब
एएलके
वेमुराफेनिब, डाब्राफेनिब
बीआरएएफ
ओलापैरिब
पीएआरपी

लक्षित इलाज कैसे दिया जाता है?

आमतौर पर लक्षित इलाज मुंह से या आईवी के माध्यम से दी जाने वाली दवाइयां होती हैं। कई खुराकों की जरूरत होती है और ज़्यादातर रोगियों को बाहरी रोगी (आउट पेशेंट) के आधार पर दी जाती हैं।

यह जानने के लिए मरीजों को मॉनिटर किया जाएगा कि लक्षित इलाज कितनी अच्छी तरह काम करती है। कभी-कभी, दवा पहले काम कर सकती है और फिर काम करना बंद कर सकती है। प्रत्येक दवा के दुष्प्रभाव अलग-अलग होते हैं और दवाइयां सभी बच्चों पर एक ही तरह से असर नहीं करती हैं। कभी-कभार, लोगों को लक्षित दवाओं से एलर्जी हो सकती है।

बचपन में होने वाले कैंसर के इलाज में लक्षित इलाज का भविष्य

लक्षित इलाज से बचपन में होने वाले कैंसर के इलाज की बहुत अच्छी उम्मीद है, लेकिन अभी भी बहुत कुछ सीखना बाकी है। लक्षित इलाज पर अधिकांश शोध वयस्क रोगियों पर हुए हैं और चिकित्सकों को यह पता लगाने की ज़रूरत है कि बच्चों में ये दवाएं कैसे काम करती हैं। कई कैंसर के प्रकारों के लिए, लक्षित दवाएं अभी तक उपलब्ध नहीं हैं। कैंसर कोशिकाएं जटिल होती हैं और सही लक्ष्य प्राप्त करना चुनौतीपूर्ण होता है।

वैज्ञानिकों को आशा है कि लक्षित इलाज और सटीक दवा की पद्धति से बचपन में होने वाले कैंसर के कई रोगी कम दुष्प्रभाव के साथ लंबे समय तक रोगमुक्त होंगे।  


समीक्षा की गई: जून 2018