आपका स्वागत है

Together, बच्चों को होने वाले कैंसर से पीड़ित किसी भी व्यक्ति - रोगियों और उनके माता-पिता, परिवार के सदस्यों और मित्रों के लिए एक नया सहारा है.

और अधिक जानें

आनुवंशिक सलाहकार और वंशानुगत जोखिम को समझना

यह पता लगने के बाद कि उनके बच्चे को कैंसर है, माता-पिता का यह पूछना स्वाभाविक है कि यह बीमारी कैसे और क्यों हुई। अधिकतर लोगों को यह जानकर आश्चर्य होता है कि इसका जवाब उनके वंश-वृक्ष में निहित है। क्या मैंने आगे अपने बच्चे को कोई आनुवंशिक विकार दिया है जिससे उसे कैंसर हुआ है? क्या कैंसर वंशानुगत रूप से मेरे परिवार में चला आ रहा है?

आनुवंशिक सलाहकार, चिकित्सा आनुवंशिकी और परामर्श में उन्नत प्रशिक्षण व अनुभव प्राप्त वह स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर जो परिवारों को उनके जवाब खोजने में मदद कर सकता है। सलाहकार, चिकित्सीय टीम का एक हिस्सा होते हैं और चिकित्सकों और अन्य प्रदाताओं के साथ मिलकर काम करते हैं।

शीतकालीन परिदृश्य में डबल हिलिक्स पर खेल रहे बच्चों के साथ डीएनए मॉडल का चमकीला रंगीन स्कल्पचर

यदि आपको पता चले कि आपके परिवार में कैंसर का इतिहास रहा है, तो अपने चिकित्सक से इस बारे में चर्चा करें और संभवत: आनुवंशिक सलाहकार से मार्गदशन प्राप्त करें।

सलाहकार, लोगों के परिवार के चिकित्सकीय इतिहास की समीक्षा करने और उन विशिष्ट वंशानुगत स्थितियों के बारे में चर्चा करने के लिए जिनसे कैंसर का खतरा बढ़ सकता है, उनके साथ काम कर सकते हैं। परिवार में कुछ पैटर्न—जैसे विकसित होने वाले कैंसर के प्रकार, दिखाई देने वाली अन्य कैंसर रहित स्थितियां, और वे आयु जिनमें कैंसर विकसित होता है—आनुवंशिक कैंसर सिंड्रोम की उपस्थिति का संकेत दे सकते हैं। हो सकता है कि अन्य लोगों में आनुवंशिक विकार तो हो लेकिन उनमें कोई विशेष लक्षण दिखाई न दें।

2015 में सेंट. जूड चिल्ड्रन रिसर्च हॉस्पिटल द्वारा – वाशिंगटन विश्वविद्यालय बाल चिकित्सा कैंसर जीनोम परियोजना से पाया गया है कि बचपन में होने वाले 8.5 प्रतिशत कैंसर माता-पिता से वंशानुगत प्राप्त आनुवंशिक उत्परिवर्तन के कारण विकसित होते हैं।

ऐसी बहुत सी प्रयोगशाला जाँचें हैं जो उन आनुवंशिक उत्परिवर्तनों का पता लगा सकती हैं जिनसे कैंसर हो सकता है। यदि परिवार रोगी या स्वयं की आनुवंशिक जाँच कराना चाहते हैं, तो सलाहकार इस बात पर चर्चा कर सकता है कि उनके लिए कौन सी आनुवंशिक जाँचे सही हैं और कौन सी नहीं, जाँचों से क्या पता लग सकता है और क्या नहीं, और वह उनके लिए जाँच कराने की व्यवस्था कर सकता है। जाँच परिणाम तैयार हो जाने पर, सलाहकार उनके बारे में स्पष्ट रूप से समझाएगा और परिवारों से इस बारे में बात करेगा कि भावी बच्चों सहित परिवार के अन्य सदस्यों को कैंसर होने का जोखिम है या नहीं।

यदि आवश्यक है, तो सलाहकार परिवार के अन्य सदस्यों की आनुवंशिक जाँच के लिए चर्चा करेगा। यदि जाँच से यह पता चलता है कि परिवार के सदस्यों में कैंसर के प्रति आनुवंशिक प्रवृत्ति है, तो स्वाभाविक रूप से एक प्रश्न उठता है, "मेरा परिवार के लिए इसका क्या मतलब होगा?" वहाँ परिवार के सदस्यों को शिक्षित करने और उन्हें भावनात्मक रूप से सहारा देने के लिए आनुवंशिक सलाहकार होगा।

सलाहकार उन्हें जानकारी देंगे ताकि परिवार के सदस्य अपनी चिकित्सा देखभाल के लिए विवेकपूर्ण निर्णय ले सकें। कैंसर की प्रवृत्ति होने का अर्थ यह नहीं है कि व्यक्ति को कैंसर होगा ही। फिर भी, सलाहकार उपलब्ध जाँच परीक्षणों के बारे में बताएगा। रोगी अगर चाहें तो कैंसर के लिए नियमित रूप से अपने जाँच परीक्षण करवा सकते हैं, ऐसे में यदि किसी बीमारी का जल्द पता लग जाता है तो उसका सफलतापूर्वक इलाज होना भी अधिक संभव होता है। इसके अलावा, परिवार चाहें तो कैंसर को विकसित होने से रोकने में मदद के लिए अन्य चिकित्सा विकल्पों पर भी विचार कर सकते हैं।

आनुवंशिक सलाहकार रोगियों को, यदि उनकी रुचि हो तो, शोध में शामिल होने के तरीकों के बारे में बता सकते हैं। सलाहकार परिवारों को आनुवंशिक जानकारी भेदभावहीनता अधिनियम को समझने में भी मदद करते हैं, जो कि आनुवंशिक जानकारी के आधार पर भेदभाव के विरुद्ध सुरक्षा प्रदान करने वाला एक संघीय कानून है। वे रोगी के समर्थक के रूप में कार्य कर सकते हैं और व्यक्तियों व परिवारों को समुदायिक या राजकीय सहायता सेवाएं लेने की सलाह दे सकते हैं।


समीक्षा की गई: जून 2018