आपका स्वागत है

Together, बच्चों को होने वाले कैंसर से पीड़ित किसी भी व्यक्ति - रोगियों और उनके माता-पिता, परिवार के सदस्यों और मित्रों के लिए एक नया सहारा है.

और अधिक जानें

ब्रैकीथेरेपी

ब्रैकीथेरेपी छोटे रेडियोधर्मी स्रोत (कभी-कभी इसे सीड कहा जाता है) को ट्यूमर कोशिकाओं को मारने के लिए शरीर के अंदर डाला जाता है। इसे आंतरिक रेडिएशन थेरेपी के नाम से भी जाना जाता है।

कभी-कभी, कैंसर रेडिएशन विशेषज्ञ कुछ कैंसर के लिए एकमात्र इलाज के रूप में ब्रैकीथेरेपी की सलाह देते हैं। बाकी समय इसका इस्तेमाल अन्य इलाजों के साथ किया जाता है। इसका प्रयोग ज़्यादातर कुछ सार्कोमा और रेटिनोब्लास्टोमा के इलाज में किया जाता है।

रेडिएशन थेरेपी टीम, रोगी और परिवार को इलाज के बारे में बताएगी।

इलाज की प्रक्रिया

इलाज की संख्या, ट्यूमर के प्रकार, यह शरीर में कहां पर है और रोगी के अन्य प्रकार के चल रहे इलाज पर निर्भर करती है।

रोगी इलाज की अवधि के दौरान अस्पताल में रहेगा या रोजाना अस्पताल आएगा।

हर बाल चिकित्सा केंद्र भिन्न होता है, लेकिन इलाज प्रक्रिया एक समान शेड्यूल का अनुकरण करेगी:

  • ट्यूमर को निकालने के लिए रोगी की सर्जरी करनी होगी। उस सर्जरी के दौरान, कैंसर रेडिएशन विशेषज्ञ नली (पतली ट्यूब) को डालेगा, जो ट्यूमर तक पहुंचेगी। नली के कुछ हिस्से त्वचा के बाहर रहेंगे। ट्यूब स्वयं रेडियोधर्मी नहीं है।
  • अगले दिन, रोगी का सीटी स्कैन किया जाएगा ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि नली सही स्थिति में हैं और रेडिएशन डिलीवरी की योजना बनाने में मदद करेगा।
  • तीन से चार दिन बाद कैंसर रेडिएशन विशेषज्ञ, रेडिएशन इलाज शुरू करेगा। रेडिएशन थेरेपिस्ट रोगी को हाई डोज़ रेट रूम (एचडीआर रूम) नाम के एक रूम में ले जाएगा। नर्स नली को ढंकने वाली पट्टी को निकाल देगी। कैंसर रेडिएशन विशेषज्ञ नलियों को एक मशीन से जोड़ देगा, जिसमें रेडियोधर्मी स्रोत होते हैं। ये स्रोत तिल के बीज से बड़े नहीं होते हैं। रोगी इन्हें महसूस नहीं कर पाएगा।
  • जब सब कुछ कनेक्ट हो जाता है, तो कर्मचारी रूम से बाहर निकल जाएंगे। इलाज के दौरान रोगी के अलावा कोई भी व्यक्ति एचडीआर रूम में नहीं रह सकता है।
  • इलाज करने के लिए मशीन रेडियोधर्मी स्रोतों को स्वचालित तरीके से नलियों में भेजेगी। इलाज लगभग 10-15 मिनट तक चलेगा। इलाज के बाद, स्रोत रोगी को छोड़ देंगे और स्वचालित तरीके से मशीन में लौट जाएंगे। इलाज के दौरान रोगी के आस-पास रहने वाली गर्भवती महिलाओं सहित किसी भी व्यक्ति के लिए कोई जोखिम नहीं है।
  • कैंसर रेडिएशन विशेषज्ञ, नलियों से मशीन को डिस्कनेक्ट कर देगा। इसके बाद, नर्स नलियों को किसी दूसरी पट्टी से ढँकेगी।

चिकित्सीय टीम अंतिम इलाज के बाद नलियों को निकाल देगी।

कैंसर रेडिएशन विशेषज्ञ के साथ रोगी की नियमित फ़ॉलो-अप मुलाकात होगी।


समीक्षा की गई: जून 2018