आपका स्वागत है

Together, बच्चों को होने वाले कैंसर से पीड़ित किसी भी व्यक्ति - रोगियों और उनके माता-पिता, परिवार के सदस्यों और मित्रों के लिए एक नया सहारा है.

और अधिक जानें

घाव की देखभाल

कैंसर से पीड़ित बच्चों में घाव

घाव एक शारीरिक चोट है जो शरीर में त्वचा की सिकुड़न को बाधित करता है। यह त्वचा की सतह पर, त्वचा के नीचे या दोनों पर स्थित हो सकता है। कैंसर का इलाज करा रहे बच्चों के लिए, घावों का कारण हो सकता है:

  • सर्जरी से लगा एक चीरा (कट)
  • गिरना या दुर्घटना
  • ट्यूमर का बढ़ना
  • एक जीजे ट्यूब - या खिलाने वाली नली
  • दबाव
  • रेडिएशन थेरेपी

घावों की निगरानी करना

घावों के लिए नियमित रूप से त्वचा की जाँच करना महत्वपूर्ण है। घाव की उचित देखभाल शरीर को संक्रमण से बचाने में मदद करती है और इससे घाव जल्दी भर सकता है। त्वचा पर घाव या दरारें होने के लक्षण, ये हो सकते हैं:

  • त्वचा का उभार, आमतौर पर लाल या बैंगनी। गहरे रंग की त्वचा वाले बच्चों के लिए, जहां उभार आता है वह या तो त्वचा के अधिक गहरे या हल्के पैच के रूप में दिखाई दे सकता है।
  • पपड़ीदार या दरार वाली त्वचा
  • पपड़ी या घाव
  • छाले या उभरी हुई त्वचा
  • खून का बहना
  • सूजन
  • द्रव या मवाद निकलना
  • चकत्ते

नियम के रूप में, त्वचा में किसी भी बदलाव की निगरानी करें। देखभाल टीम मदद कर सकती है, लेकिन बच्चों और माता-पिता को पता होता है कि त्वचा सामान्य रूप में कैसी दिखती है।

अगर निम्न में से कुछ भी होता है तो चिकित्सक को कॉल करें:

  • नया घाव या त्वचा में बदलाव जिसके बारे में चिकित्सक को जानकारी नहीं है
  • अगर घाव से रक्त बहना बंद नहीं हो रहा हो
  • एक घाव जो किनारों के आसपास अधिक लाल, गर्म या सूजा हुआ हो
  • नया दर्द या सामान्य से अधिक दर्द
  • घाव से दुर्गंध आ रही हो
  • घाव से पीला हरा तरल निकल रहा हो
  • घाव से तरल निकल रहो हो
  • घाव के आसपास की त्वचा में कोई बदलाव हुए हों
  • बुखार जो सामान्य से अधिक हो

सभी लक्षण जो घाव में विकसित हो रहे हैं वे नग्न आंखों से दिखाई नहीं देते हैं। अतिरिक्त संकेत जो घाव की शुरुआत या त्वचा में दरार का संकेत दे सकते हैं उनमें शामिल हैं:

  • एक प्रभावित क्षेत्र में हरारत या गर्मी
  • स्पर्श करने पर दर्द या मुलायम लगना
  • खुजलाहट
  • कब्ज। कुछ दवाएं जठरांत्रीय प्रणाली में दरारें (छेद) पैदा कर सकती हैं।

कुछ घावों को विकसित होने में कई दिन लग सकते हैं। किसी भी घाव, नए दर्द या असुविधा के बारे में बताएं।

घावों की देखभाल

अधिकांश घाव उचित देखभाल करने पर समय के साथ ठीक हो जाते हैं। लेकिन हर घाव अलग होता है। घावों की देखभाल की प्रक्रिया अलग-अलग रोगी और समय के साथ बदलती रहती है। चिकित्सीय टीम द्वारा निर्देशित किए अनुसार प्रत्येक घाव की देखभाल करें।

कभी-कभी, देखभालकर्ता को पट्टी बदलने में मदद करने के लिए कहा जा सकता है। ध्यान रखने योग्य कुछ बुनियादी देखभाल सुझाव:

  • घाव की पट्टी को साफ़ और सूखा रखना चाहिए।
  • पट्टी को नियमित रूप से बदलना चाहिए, विशेष रूप से वे जो बहुत नम या गंदी हो जाती हैं। एक सामान्य नियम के रूप में, अगर पट्टी आधी या अधिक भीगी है, तो इसे बदल दिया जाना चाहिए।
  • देखभालकर्ता को प्रत्येक बार घाव को साफ़ करते और पट्टी बदलते समय नए डिस्पोजेबल दस्ताने पहनने चाहिए। 
  • देखभालकर्ता को पट्टी बदलने से पहले और बाद में दस्ताने पहनने के बावजूद भी अपने हाथ धोने चाहिए।

कुछ चीजों जैसे घाव को खुजलाना, घाव के ऊपर टेप लगाना और बेबी पाउडर या कॉर्न स्टार्च लगाने से बचना चाहिए, इनसे कीटाणु/जीवाणु पनप सकते हैं।

किसी भी घरेलू उपचार या सप्लीमेंट के बारे में चिकित्सीय टीम से जाँच अवश्य करवाएं, क्योंकि वे संक्रमण की संभावना को बढ़ा सकते हैं।


समीक्षा की गई: जून 2018