आपका स्वागत है

Together, बच्चों को होने वाले कैंसर से पीड़ित किसी भी व्यक्ति - रोगियों और उनके माता-पिता, परिवार के सदस्यों और मित्रों के लिए एक नया सहारा है.

और अधिक जानें

कैंसर या अन्य बीमारियों वाले बच्चों के लिए कोविड-19 का क्या मतलब है?

कैंसर और कैंसर के इलाज, प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर कर सकते हैं। कैंसर से ग्रस्त बच्चो में संक्रमण और बीमारी होने का खतरा ज़्यादा होता है। यह जोखिम विशेष रूप से उन रोगियों के लिए अधिक है, जिनका बोन मैरो ट्रांसप्लांट हुआ है।

मरीजों और परिवार के सदस्यों को वायरस के संपर्क को रोकने के लिए अतिरिक्त देखभाल करनी चाहिए। अगर कोविड-19 के लक्षण विकसित होते हैं, तो तुरंत अपने चिकित्सक से संपर्क करें।

उन रोगियों में कोविड-19 जिनका बोन मैरो ट्रांसप्लांट हुआ है इस बारे में ज़्यादा जानें।

कोविड-19 क्या है?

कोविड-19 का मतलब कोरोनोवायरस बीमारी 2019 है। यह एक सांस का संक्रमण है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को होता है। सांस का संक्रमण एक ऐसी बीमारी है जो नाक, गले, वायुमार्ग या फेफड़ों को प्रभावित करती है। कोविड-19 वाले अधिकांश लोगों में सर्दी या फ्लू के समान हल्के लक्षण होते हैं, लेकिन कुछ लोगों में निमोनिया जैसी गंभीर समस्याएं विकसित हो सकती हैं।

कोरोनावायरस, वायरस का एक बड़ा परिवार है जो दुनिया भर में आम है। कोविड-19 का कारण बनने वाला वायरस एक नए प्रकार का कोरोनावायरस है। वायरस का आधिकारिक नाम SARS-CoV-2 है।

जिस व्यक्ति को वायरस है जब उसे खांसी या छींक आती है, तो सांस की बूंदें उन लोगों के मुंह या नाक में उतर सकती हैं जो आस-पास हैं। एक छींक से सांस की बूंदें 6 फीट तक जा सकती हैं।

जिस व्यक्ति को वायरस है जब उसे खांसी या छींक आती है, तो सांस की बूंदें उन लोगों के मुंह या नाक में उतर सकती हैं जो आस-पास हैं। एक छींक से सांस की बूंदें 6 फीट तक जा सकती हैं।

कोविड-19 कैसे फैलता है?

कोविड-19 एक संक्रमित व्यक्ति के साथ निकट संपर्क होने से फैल सकता है। जब एक संक्रमित व्यक्ति खांसता है या छींकता है, तो सांस की बूंदें उन लोगों के मुंह या नाक में उतर सकती हैं जो पास में हैं या संभवतः उनके फेफड़ों में प्रवेश कर सकती हैं।

वायरस तब भी फैल सकता है जब कोई व्यक्ति वायरस वाली किसी सतह को छूता है और फिर अपनी आंखों, नाक या मुंह को छूता है। वायरस कुछ दिनों तक सतहों पर रह सकता है।

कोविड-19 किसे हो सकता है?

कोविड-19 सभी को हो सकता है। बीमारी व्यक्ति-दर-व्यक्ति फैलती है। दूसरे शब्दों में, वायरस से संक्रमित किसी व्यक्ति के निकट संपर्क में आने के बाद, किसी को भी कोविड-19 हो सकता है। वायरस तब भी फैल सकता है जब कोई व्यक्ति वायरस वाली किसी सतह को छूता है और फिर अपनी आंखों, नाक या मुंह को छूता है।

कोविड-19 के प्राथमिक लक्षणों में बुखार, खांसी, नाक बहना, सांस की तकलीफ और गले में खराश शामिल हैं।

कोविड-19 के प्राथमिक लक्षणों में बुखार, खांसी, नाक बहना, सांस की तकलीफ और गले में खराश शामिल हैं।

कोविड-19 के लक्षण क्या हैं?

कोविड-19 सांस की बीमारी (जैसे सर्दी या फ्लू) है जो वायरस के कारण होती है। कोविड-19 के लक्षणों में बुखार, खांसी, ठंड लगना, सांस की तकलीफ़, शरीर में दर्द, नाक बहना और गंध या स्वाद न मिलना शामिल है। आमतौर पर वायरस के संपर्क में आने के 2-12 दिन बाद लक्षण विकसित होते हैं।

कोविड-19 वाले अधिकांश लोगों में हल्के लक्षण होते हैं। कुछ लोगों में वायरस होता है और कोई लक्षण नहीं दिखता है।

कुछ स्थितियों में, कोविड-19 वाले लोग बहुत बीमार हो जाते हैं। कोविड-19 निमोनिया, सांस लेने में गंभीर समस्या और यहां तक कि मौत का कारण बन सकता है। गंभीर बीमारी के चिंताजनक संकेत निम्न हैं:

  • सांस लेने में तकलीफ़
  • सीने में दर्द या दबाव
  • होंठ या चेहरे का नीला रंग
  • भ्रम होना
  • घटती सतर्कता या चेतना में कमी

क्या कोविड-19 से बच्चों को ज़्यादा जोखिम है?

कुल मिलाकर, बच्चों को कोविड-19 के कारण गंभीर बीमारी का खतरा कम होता है। इसका मतलब यह नहीं है कि बच्चों को कोविड-19 नहीं हो सकता है। लेकिन, बच्चों में गंभीर बीमारी का खतरा आमतौर पर कम होता है।

कोविड-19 की जटिलताओं वाले ज़्यादातर मामलों में बुजुर्ग लोगों को और उन्हें ज़्यादा जोखिम होता है जिन्हें क्रॉनिक (पुरानी) बीमारी जैसे, हृदय रोग, मधुमेह/डायबीटीज़, फेफड़ों की समस्याएं हैं या जिनकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर है।

जिन बच्चों की बीमारी या चिकित्सा स्थिति के कारण प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो गई है, उनके परिवारों को वायरस के संपर्क में आने से बचाने के लिए अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए। अगर लक्षण विकसित होते हैं, तो तुरंत अपने चिकित्सक से संपर्क करें।

बच्चों में मल्टीविज़्म सूजन-संबंधी सिंड्रोम (MIS-C) कोविड-19 से संबद्ध है

बहुत ही कम मामलों में, बच्चों को कोविड-19 से जुड़ी गंभीर सूजन-संबंधी सिंड्रोम की परेशानी हो सकती है। इस स्थिति को बच्चों में मल्टीसिस्टम सूजन-संबंधी सिंड्रोम (MIS-C) के रूप में जाना जाता है। MIS-C कावासाकी रोग के समान है। यह सिंड्रोम कुछ बच्चों में होता है जिन्हें पहले कोरोनोवायरस संक्रमण हुआ था। बच्चों में सिंड्रोम विकसित हो सकते हैं, भले ही उनमें कोविड-19 के ध्यान देने योग्य लक्षण न हों।

बच्चों में मल्टीसिस्टम सूजन-संबंधी सिंड्रोम के संकेत और लक्षण

बाल चिकित्सा मल्टीसिस्टम सूजन-संबंधी सिंड्रोम के संकेत और लक्षण में ये शामिल हैं:

  • कम से कम 24 घंटे तक रहने वाला बुखार
  • पेट दर्द, दस्त या उल्टी
  • चिड़चिड़ापन, सुस्ती
  • सूजी हुई लसिका ग्रंथियां
  • त्वचा पर लाल चकत्ते, आंखों की लालिमा, होंठों या जीभ का लाल रंग
  • हाथ और पैर सूजना

सूजन सामान्य प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया का एक हिस्सा है। इस सिंड्रोम में, ऐसा प्रतीत होता है कि प्रतिरक्षा प्रणाली ज़्यादा काम कर रही है। यह ठीक से ज्ञात नहीं है कि ऐसा क्यों होता है। हालांकि, बच्चों की प्रतिरक्षा प्रणालियां स्वाभाविक रूप से सतर्क और नए संक्रमणों से लड़ने के लिए तैयार रहती हैं। अगर प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया बहुत लंबे समय तक जारी रहती है, तो यह सूजन पैदा कर सकती है और हृदय और गुर्दे सहित कई अंगों में रक्त वाहिकाओं को प्रभावित कर सकती है।

हालांकि, सिंड्रोम बहुत दुर्लभ है, MIS-C हृदय, गुर्दे और अन्य अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है। हालात जानलेवा हो सकते हैं और तुरंत चिकित्सा देखभाल की आवश्यकता होती है। अपने बच्चों के चिकित्सक को तुरंत कॉल करें अगर आपको MIS-C का संदेह है या इसकी किसी भी विशेषता पर नज़र रखें, जो संक्रमण के कई सप्ताह बाद में विकसित होती है।

 

क्या कैंसर रोगियों को कोविड-19 से गंभीर बीमारी होने का खतरा ज़्यादा है?

कैंसर और कैंसर के इलाज, प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर कर सकते हैं। कैंसर से ग्रस्त बच्चो में संक्रमण और बीमारी होने का खतरा ज़्यादा होता है। बचपन में होने वाले कैंसर से पीड़ित ज़्यादातर मरीज, कोविड-19 होने के बाद भी अपेक्षाकृत अच्छा स्वास्थ्य-लाभ करते हैं। हालांकि, कुछ रोगियों के लिए, कोविड-19 जानलेवा हो सकता है।

सामान्य तौर पर, कैंसर रोग प्रतिरोधक शक्ति को कम कर सकता है और विभिन्न तरीकों से संक्रमण से लड़ना कठिन बना सकता है:

  • कैंसर या कैंसर का इलाज रोगाणु पर हमला करने वाले प्रतिरक्षा कोशिकाओं की संख्या को कम कर सकता है।
  • रेडिएशन और कुछ दवाइयां सहित कैंसर का इलाज, त्वचा या झिल्ली को कमज़ोर कर सकते हैं जो मुंह और पाचन तंत्र को प्रभावित करते हैं। इससे कुछ प्रकार के रोगाणु शरीर में आसानी से प्रवेश कर सकते हैं। हमें अभी तक पता नहीं है कि यह कोविड-19 में जोखिम को प्रभावित करता है या नहीं।

कोविड-19 वाले अधिकांश रोगियों को हल्की बीमारी होती है। लेकिन, यह संभव है कि अधिक गंभीर बीमारी हो सकती है, इसलिए ध्यान से निगरानी की आवश्यकता है।

कोविड-19 और बोन मैरो ट्रांसप्लांट

हाल के एक अध्ययन में पाया गया है कि कोविड-19 के कारण बोन मैरो ट्रांसप्लांट के रोगियों को गंभीर बीमारी होने का खतरा अधिक होता है।

जाँचकर्ताओं ने 318 बोन मैरो ट्रांसप्लांट रोगियों का अध्ययन किया जो कोविड-19 से बीमार हुए। बोन मैरो ट्रांसप्लांट के रोगियों में कोविड-19 से बचने वाले लगभग 68% लोग थे। सामान्य आबादी में जीवित रहने की दर 95-99% है। प्रत्यारोपण के एक साल या उससे अधिक समय बाद भी जोखिम जारी रहता है।

बोन मैरो ट्रांसप्लांट के रोगियों को संक्रमण को रोकने और बीमारी के किसी भी संकेत पर चिकित्सा देखभाल प्राप्त करने के लिए अतिरिक्त देखभाल करने हेतु प्रोत्साहित किया जाता है।

 

अगर मेरा बच्चा प्रतिरक्षा में अक्षम है तो मुझे क्या करना चाहिए?

अगर आपके बच्चे की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर है या उसकी कोई क्रॉनिक (पुरानी) बीमारी वाली स्थिति है, तो बीमारी को रोकने के लिए कदम उठाना महत्वपूर्ण है। अगर आपका बच्चा वायरस के संपर्क में आया है या उसमें कोविड-19 के लक्षण हैं, तो अपने चिकित्सक से संपर्क करें।

  • कोविड-19 और आपके बच्चे की व्यक्तिगत स्वास्थ्य आवश्यकताओं के जोखिम के बारे में अपने चिकित्सक से बात करें।
  • जानिए अगर लक्षण विकसित हों तो क्या करें। आपातकालीन स्थिति को छोड़कर चिकित्सक के पास जाने से पहले कॉल करें।
  • अगर आपको क्वारंटाइन के कारण आवश्यक रूप से घर में रहना पड़े, तो ऐसे मामलों में सुनिश्चित करें कि आपके पास अतिरिक्त दवाइयाँ और मेडिकल सप्लाई उपलब्ध हैं। अपने चिकित्सक से दवाइयों के विकल्प के बारे में बात करें, जैसे कि उन्हें जब आपके घर पर मंगाना हो।
  • किसी भी आगामी चिकित्सा मुलाकातों के बारे में अपने चिकित्सक से पूछें और यह भी क्या उन्हें स्थगित किया जाना चाहिए। आपका चिकित्सक कुछ प्रकार के अपॉइंटमेंट के लिए प्रतीक्षा करने की सिफ़ारिश कर सकता है। हालांकि, चिकित्सा मुलाकातों में देरी न करें जब तक कि यह आपके चिकित्सक द्वारा अनुशंसित न किया गया हो।
  • यात्रा, भीड़, सार्वजनिक स्थानों और अपने घर के बाहर के लोगों से संपर्क को कम करके अपने जोखिम को कम करें।
  • हमेशा फेस मास्क पहनें, जब आपके आस-पास ऐसे लोग हों जो आपके साथ नहीं रहते हैं। अपने चिकित्सक से पूछें कि किस प्रकार का मास्क सबसे अच्छा है और इसे सही ढंग से पहनें।
  • दूसरों से कम से कम 6 फीट की दूरी रखें।
  • साबुन और पानी का उपयोग करते हुए अक्सर हाथ धोएं या हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग करें।
  • लक्षणों पर ध्यान दें।
  • ऐसे चेतावनी के संकेतों को जानें, जिन्हें आपातकालीन देखभाल की आवश्यकता होती है।
अपने चिकित्सक की सलाह के अनुसार मास्क या फेस कवर पहनें। अगर आपका बच्चा प्रतिरक्षा में अक्षम है, तो आपकी देखभाल टीम को आवश्यक मास्क के प्रकार और उपयोग के लिए निर्देश के बारे में पूछें।

अपने चिकित्सक की सलाह के अनुसार मास्क या फेस कवर पहनें। अगर आपका बच्चा प्रतिरक्षा में अक्षम है, तो आपकी देखभाल टीम को आवश्यक मास्क के प्रकार और उपयोग के लिए निर्देश के बारे में पूछें।

कोविड-19 को रोकने में मदद करने के सरल तरीके

अपने आप को और दूसरों को बीमारी से बचाने के अन्य तरीकों में ये शामिल हैं:

  • विशेष रूप से सार्वजनिक स्थानों पर होने के बाद, अपने हाथ अक्सर धोएं। हर बार जब आप खांसते, छींकते हैं या अपनी नाक छूते हैं, तो अपने हाथ धोएं। साबुन और पानी का उपयोग करें और कम से कम 20 सेकंड के लिए हाथ रगड़ें।
  • अगर आपके पास साबुन और पानी उपलब्ध नहीं है, तो ऐसे हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग करें जिसमें कम से कम 60% अल्कोहल हो। अपने हाथों की सभी सतहों को कवर करें और उन्हें एक साथ तब तक रगड़ें जब तक कि वे सूख न जाएं।
  • अपने चेहरे, मुंह, नाक और आंखों को छूने से बचें।
  • जितना संभव हो लोगों के साथ निकट संपर्क (6 फीट के भीतर) रखने से बचें। कोविड-19 किसी व्यक्ति की छींक या खांसी से निकली बूंदों के माध्यम से फैलता है।
  • खांसी और छींक को कवर करें और फिर अपने हाथों को तुरंत धोएं।
  • अपने चिकित्सक की सलाह के अनुसार मास्क या फेस कवर पहनें। अगर आपका बच्चा प्रतिरक्षा में अक्षम है, तो आपकी देखभाल टीम को आवश्यक मास्क के प्रकार और उपयोग के लिए निर्देश के बारे में पूछें।
  • ऐसी सतहें जिन्हें अक्सर छुआ जाता है, उन्हें साफ और कीटाणुरहित करें।
  • लोगों या पालतू जानवरों पर घरेलू कीटाणुनाशक स्प्रे न करें। जानिए कि अगर परिवार के किसी सदस्य में लक्षण हों और घर पर कोविड-19 से पीड़ित किसी व्यक्ति की देखभाल करनी हो तो क्या करें।
हाथ धोना: खुद को और दूसरों को बीमार होने से बचाएं। 20 सेकंड तक धोएं। 1) पानी और साबुन। २) हथेली से हथेली। 3) उंगलियों के बीच। 4) अंगूठे 5) हाथों के पीछे 6) कलाइयां।
कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए अल्कोहल-बेस्ड हैंड सैनिटाइज़र से हाथों की सफाई करना। इन चरणों में ये शामिल हैं: 1) ऐसे हैंड सैनिटाइज़र को चुनें जिसमें कम से कम 60% अल्कोहल हो। 2) एक हाथ की हथेली पर हैंड सैनिटाइज़र लगाएं। हाथों और उंगलियों की सभी सतहों को कवर करने के लिए पर्याप्त सैनिटाइज़र उपयोग करें। 3) जब तक हाथ सूख न जाएं, सभी सतहों को एक साथ रगड़ें। ध्यान दें: अगर हाथ स्पष्ट रूप से गंदे (जैसे मिट्टी वगैरह लगना) हैं, तो उन्हें साबुन और पानी से धोएं।
स्वास्थ्य रहने के सरल तरीकों में ये शामिल हैं: कम से कम 20 सेकंड के लिए अपने हाथों को साबुन और पानी से धोएं। अपनी आंखों, नाक और मुंह को छूने से बचें। अपनी खांसी को कवर करें या एक रुमाल/टिस्यू लेकर छींकें, फिर रुमाल/टिस्यू को कूड़े में फेंक दें। बड़ी भीड़ और बीमार लोगों के साथ निकट संपर्क से बचें। बार-बार जिन जगहों या चीज़ों को छुआ जा रहा है, उन्हें साफ़ और कीटाणु रहित करें। बीमार होने पर अपनी प्राथमिक देखभाल टीम को कॉल करें।

कोरोनावायरस और कोविड-19 के बारे में अधिक जानकारी

"कोरोनावायरस के बारे में जानें" कलर बुक

बच्चों के लिए इस कलर बुक को डाउनलोड करें और प्रिंट करें। वे कोरोनावायरस और कोविड-19 के बारे में पढ़ सकते हैं और पृष्ठों को रंग सकते हैं।

"कोरोनावायरस के बारे में जानें" कलर बुक
कोरोनावायरस कलर बुक डाउनलोड करें

“कोरोनावायरस के बारे में जानें” एक्टिविटी बुक

बड़े बच्चों के लिए इस कलर बुक को डाउनलोड करें और प्रिंट करें। वे कोरोनावायरस और कोविड-19 के बारे में पढ़ सकते हैं, कुछ पृष्ठों को रंग सकते हैं और शब्द पहेलियां भर सकते हैं।

“कोरोनावायरस के बारे में जानें” एक्टिविटी बुक
कोरोनावायरस एक्टिविटी बुक डाउनलोड करें


समीक्षित: जनवरी 2021